शुक्रवार, 13 जून 2014

कौन........

कौन रुसवाइयों के लिए ठहरता है ‘बवाल’ ?

मौत के वास्ते, दीदार से ही काम निकाल !! 


---बवाल

6 टिप्‍पणियां:

Smart Indian ने कहा…

वाह। कम शब्दों में ऐसी बात कह पाना बवाल साहब के सिवा किसके बस की बात है।

Udan Tashtari ने कहा…

वाह!!

कहकशां खान ने कहा…

बहुत ही सुंदर पंक्तियां।

कहकशां खान ने कहा…

अतिसुंदर।

savan kumar ने कहा…

बहुत ख़ूब
http://savanxxx.blogspot.in

Kuldeep Saini ने कहा…

Wah wah