रविवार, 16 मई 2010

जाने क्या वो लिख चले.....................(बवाल)

जाने क्या वो लिख चले और, जाने क्या ये पढ़ चले ...?

हम-क़लम के हर्फ़े-आख़िर, दिल में पुरदम गड़ चले............

--- बवाल


हम-क़लम  = एक जैसा और एक साथ लिखने वाले, मित्र (...., ....., .....)

हर्फ़े-आख़िर = अटल और अंतिम निर्णय, शब्द या बात व्यक्त करते हुए वर्णाक्षर

पुरदम = भर-ताक़त

46 टिप्‍पणियां:

योगेन्द्र मौदगिल ने कहा…

Wahwa....

Wahwa...

Wah....................

दिलीप ने कहा…

waah...

अमिताभ मीत ने कहा…

बवाल करने से बाज़ नहीं आओगे भैया ?

पइचान कौन? ने कहा…

ग़ज़ब ढ़ा दिया आपने तो. एक शायरी उस दिन आपने बरगी डैम से लौटने पर भी कही थी. देखा ! मगर क्या देखा....? अभी तक याद है. और कैसे हैं? होप कि पेहचान गए होंगे... ही ही ही ही ही. फोन लगा रहा हूँ इत्ते दिनों से , लगता हीच नई.. आप ही कॉल कर लीजिये न..मुझे..

महेन्द्र मिश्र ने कहा…

बहुत सटीक पोस्ट बहुत सटीक पोस्ट ..ऊपर जो टीप दी है शब्दों से पहचान लिया ....आभार
परशुराम जयंती पर हार्दिक शुभकामनाये ... ....आभार
परशुराम जयंती पर हार्दिक शुभकामनाये ...

महेन्द्र मिश्र ने कहा…

अभे तक कित्ते रहे भैया ....

"अर्श" ने कहा…

आपके ये एकाकी शे;र हमेशा ही झकझोर के रख देते हैं मुझे ... आप बवाल हो और हमेशा कमाल कर देते हो...


अर्श

डॉ. मनोज मिश्र ने कहा…

बहुत उम्दा,एक लाइन ही गजब ढा गयी.

शशिकान्त ओझा ने कहा…

जिस बात को कहने के लिए लोगों ने पिछले तीन चार दिनों में पच्चीसों पोस्टें लिख डालीं और न जाने कितनी टिप्पणियों और चर्चाओं के द्वारा छिद्रान्वेषण किया गया वही बात बवाल भाई आपने महज एक शेर में कह डाली। एक बहुत बड़ा कटाक्ष सहज भाव और विनम्रता से प्रस्तुत करना ही तो आपकी विशेषता है। इस शेर के मर्म में बहुत कुछ है, समझने वाला ही आपके दर्द को समझ सकेगा। आदाब।

Bajpai (Airtel) ने कहा…

वाह वाह बवाल भाई
आज ऐसे ही आपकी साइट पर किलिक किया तो देख कर हैरानी में पड गया। क्या लिखते हो यार आप गजब करते हो। १२ मई की रात की वो महफिल भुलाए नहीं भूल पा रहा हूम जब आप और शेषादरी जी ने एक से एक बढ़कर गजलें पेश की और सवेरे के चार बजा दिये। होटल में सोच सोच कर ही करवटेम बदलता रहा। अगली बार आऊगा तो फिर से सुनाइएगा।
नमस्कार

Bajpai (Airtel) ने कहा…

वाह वाह बवाल भाई
आज ऐसे ही आपकी साइट पर किलिक किया तो देख कर हैरानी में पड गया। क्या लिखते हो यार आप गजब करते हो। १२ मई की रात की वो महफिल भुलाए नहीं भूल पा रहा हूम जब आप और शेषादरी जी ने एक से एक बढ़कर गजलें पेश की और सवेरे के चार बजा दिये। होटल में सोच सोच कर ही करवटेम बदलता रहा। अगली बार आऊगा तो फिर से सुनाइएगा।
नमस्कार

राज भाटिय़ा ने कहा…

वाह वावल भाई जबाब नही बहुत सुंदर शेर कहा

अनूप शुक्ल ने कहा…

वाह,वाह! जय हो! विजय हो! आखिर बवाल हो भैया!

Udan Tashtari ने कहा…

इसी बहाने जागे तो...

अपूर्व ने कहा…

पुरकस बवाल...बल्कि बोले तो पुरकश बवाल!!

Smart Indian - स्मार्ट इंडियन ने कहा…

गजब भैया गजब!

Kumar Jaljala ने कहा…

महिलाओं में श्रेष्ठ ब्लागर कौन- जीतिए 21 हजार के इनाम
पोस्ट लिखने वाले को भी मिलेगी 11 हजार की नगद राशि
आप सबने श्रेष्ठ महिला ब्लागर कौन है, जैसे विषय को लेकर गंभीरता दिखाई है. उसका शुक्रिया. आप सबको जलजला की तरफ से एक फिर आदाब. नमस्कार.
मैं अपने बारे में बता दूं कि मैं कुमार जलजला के नाम से लिखता-पढ़ता हूं. खुदा की इनायत है कि शायरी का शौक है. यह प्रतियोगिता इसलिए नहीं रखी जा रही है कि किसी की अवमानना हो. इसका मुख्य लक्ष्य ही यही है कि किसी भी श्रेष्ठ ब्लागर का चयन उसकी रचना के आधार पर ही हो. पुऱूषों की कैटेगिरी में यह चयन हो चुका है. आप सबने मिलकर समीरलाल समीर को श्रेष्ठ पुरूष ब्लागर घोषित कर दिया है. अब महिला ब्लागरों की बारी है. यदि आपको यह प्रतियोगिता ठीक नहीं लगती है तो किसी भी क्षण इसे बंद किया जा सकता है. और यदि आपमें से कुछ लोग इसमें रूचि दिखाते हैं तो यह प्रतियोगिता प्रारंभ रहेगी.
सुश्री शैल मंजूषा अदा जी ने इस प्रतियोगिता को लेकर एक पोस्ट लगाई है. उन्होंने कुछ नाम भी सुझाए हैं। वयोवृद्ध अवस्था की वजह से उन्होंने अपने आपको प्रतियोगिता से दूर रखना भी चाहा है. उनके आग्रह को मानते हुए सभी नाम शामिल कर लिए हैं। जो नाम शामिल किए गए हैं उनकी सूची नीचे दी गई है.
आपको सिर्फ इतना करना है कि अपने-अपने ब्लाग पर निम्नलिखित महिला ब्लागरों किसी एक पोस्ट पर लगभग ढाई सौ शब्दों में अपने विचार प्रकट करने हैं। रचना के गुण क्या है। रचना क्यों अच्छी लगी और उसकी शैली-कसावट कैसी है जैसा उल्लेख करें तो सोने में सुहागा.
नियम व शर्ते-
1 प्रतियोगिता में किसी भी महिला ब्लागर की कविता-कहानी, लेख, गीत, गजल पर संक्षिप्त विचार प्रकट किए जा सकते हैं
2- कोई भी विचार किसी की अवमानना के नजरिए से लिखा जाएगा तो उसे प्रतियोगिता में शामिल नहीं किया जाएगा
3- प्रतियोगिता में पुरूष एवं महिला ब्लागर सामान रूप से हिस्सा ले सकते हैं
4-किस महिला ब्लागर ने श्रेष्ठ लेखन किया है इसका आंकलन करने के लिए ब्लागरों की एक कमेटी का गठन किया जा चुका है. नियमों व शर्तों के कारण नाम फिलहाल गोपनीय रखा गया है.
5-जिस ब्लागर पर अच्छी पोस्ट लिखी जाएगी, पोस्ट लिखने वाले को 11 हजार रूपए का नगद इनाम दिया जाएगा
6-निर्णायकों की राय व पोस्ट लेखकों की राय को महत्व देने के बाद श्रेष्ठ महिला ब्लागर को 21 हजार का नगद इनाम व शाल श्रीफल दिया जाएगा.
7-निर्णायकों का निर्णय अंतिम होगा.
8-किसी भी विवाद की दशा में न्याय क्षेत्र कानपुर होगा.
9- सर्वश्रेष्ठ महिला ब्लागर एवं पोस्ट लेखक को आयोजित समारोह में भाग लेने के लिए आने-जाने का मार्ग व्यय भी दिया जाएगा.
10-पोस्ट लेखकों को अपनी पोस्ट के ऊपर- मेरी नजर में सर्वश्रेष्ठ ब्लागर अनिवार्य रूप से लिखना होगा
ब्लागरों की सुविधा के लिए जिन महिला ब्लागरों का नाम शामिल किया गया है उनके नाम इस प्रकार है-
1-फिरदौस 2- रचना 3-वंदना 4-संगीता पुरी 5-अल्पना वर्मा- 6 –सुजाता चोखेर 7- पूर्णिमा बर्मन 8-कविता वाचक्वनी 9-रशिम प्रभा 10- घुघूती बासूती 11-कंचनबाला 12-शेफाली पांडेय 13- रंजना भाटिया 14 श्रद्धा जैन 15- रंजना 16- लावण्यम 17- पारूल 18- निर्मला कपिला 19 शोभना चौरे 20- सीमा गुप्ता 21-वाणी गीत 21- संगीता स्वरूप 22-शिखाजी 23 –रशिम रविजा 24- पारूल पुखराज 25- अर्चना 26- डिम्पल मल्होत्रा, 27-अजीत गुप्ता 28-श्रीमती कुमार.
तो फिर देर किस बात की. प्रतियोगिता में हिस्सेदारी दर्ज कीजिए और बता दीजिए नारी किसी से कम नहीं है। प्रतियोगिता में भाग लेने की अंतिम तारीख 30 मई तय की गई है.
और हां निर्णायकों की घोषणा आयोजन के एक दिन पहले कर दी जाएगी.
इसी दिन कुमार जलजला का नया ब्लाग भी प्रकट होगा. भाले की नोंक पर.
आप सबको शुभकामनाएं.
आशा है आप सब विषय को सकारात्मक रूप देते हुए अपनी ऊर्जा सही दिशा में लगाएंगे.
सबका हमदर्द
कुमार जलजला

बेनामी ने कहा…

Bavaal Bhai,
What you wrote is really undifinable. Your approch is uncomparable. Hope you will come to UAE to perform with your highly woofer voice and beautiful gazals, some day. Never saw a lawyer in such a sweet mode. Have a nice time.
Yours.

Satpal Singh Bagga,
UAE

पी.सी.गोदियाल ने कहा…

एक शेर में ही पूरी रामायण सुना दी, बहुत खूब !

महाशक्ति ने कहा…

बहुत दूर की बात कह दिया आपने

दिगम्बर नासवा ने कहा…

Bahut khoob ... kamaal ka sher hai .. andar tak utar jaata hai ...

santosh kumar ने कहा…

bahoot khooob maj aa gya

Asha ने कहा…

सुंदर भाव लिए रचना |
आशा

निर्मला कपिला ने कहा…

बवाल मे भी कमाल? वाह बधाई

mridula pradhan ने कहा…

achchi lagi.

अरुणेश मिश्र ने कहा…

मजेदार ।

रवि कान्त शर्मा ने कहा…

जो मैंनें लिख दिया और, वही उसने पढ़ लिया.....
मैंने क्या समझाया था और, वह क्या समझ गया ?..........
बस यही माया का खेल है।

बलविंदर ने कहा…

बहुत अच्छे भई शबदो के अर्थ के साथ बातों को सरल तरीके से परोसा जा रहा हैं .

बलविंदर ने कहा…

बहुत अच्छे भई शबदो के अर्थ के साथ बातों को सरल तरीके से परोसा जा रहा हैं .

अनूप शुक्ल ने कहा…

तीन महीने हुये इसे लिखे!

अरुणेश मिश्र ने कहा…

WAH.......WAH ,

किलर झपाटा ने कहा…

ऎ सोए हुए शेर, अब जागने का क्या लेंगे आप ?

निर्झर'नीर ने कहा…

ब्लॉगर पी.सी.गोदियाल ji ne sahi कहा… hai

एक शेर में ही पूरी रामायण सुना दी, बहुत खूब !

महेन्द्र मिश्र ने कहा…

जन्मदिन पर बधाई और ढेरों शुभकामनाये..... भैय्या कछु आपका पता नहीं चलत है ... का बात है ...अब मिठाई खाने आ रहा हूँ ...

महेन्द्र मिश्र ने कहा…

जन्मदिन पर बधाई और ढेरों शुभकामनाये.....

महेन्द्र मिश्र ने कहा…

जन्मदिन पर बधाई और ढेरों शुभकामनाये.....

महेन्द्र मिश्र ने कहा…

जन्मदिन पर बधाई और ढेरों शुभकामनाये.....

महेन्द्र मिश्र ने कहा…

जन्मदिन पर बधाई और ढेरों शुभकामनाये.....

महेन्द्र मिश्र ने कहा…

जन्मदिन पर बधाई और ढेरों शुभकामनाये.....

महेन्द्र मिश्र ने कहा…

जन्मदिन पर बधाई और ढेरों शुभकामनाये.....

ज़ाकिर अली ‘रजनीश’ ने कहा…


बवाल जी,
आरज़ू चाँद सी निखर जाए, ज़िंदगी रौशनी से भर जाए।
बारिशें हों वहाँ पे खुशियों की, जिस तरफ आपकी नज़र जाए।
जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनाएँ।

………….
जिनके आने से बढ़ गई रौनक..
...एक बार फिरसे आभार व्यक्त करता हूँ।

डॉ. हरदीप संधु ने कहा…

उम्दा पोस्ट !!!

कृष्ण मिश्र ने कहा…

सुन्दर रचना आभार! आभार! वैसे ब्लॉग पर कमेन्ट देने का साफ़्टवेयर आ गया है, आप के पास तो पहले से है!

गिरीश बिल्लोरे ने कहा…

हैप्पी दीवाली-सुकुमार गीतकार राकेश खण्डेलवाल

mark rai ने कहा…

behad achcha ....zindagi aise hi maze se kat jayegi ...thanks a lot for this nice post.

Harman ने कहा…

very nice...
mere blog par bhi kabhi aaiye waqt nikal kar..
Lyrics Mantra